पांच बार के विश्व चैंपियन ब्राजील ने फीफा विश्व कप के ग्रुप ई के पहले मुकाबले मे स्विट्जरलैंड से 1-1 पर ड्रॉ खेला। इस नतीजे से ब्राज़ील के कोच टिटे नाराज दिखे। तो वहि स्विट्जरलैंड के कोच को अपने खिलाड़ियों पर गर्व है। विश्व कप मे 1978 के बाद पहली ऐसा हुआ है, जब ब्राजील की टिम शुरूआती मुकाबला जितने मे नाकाम रही।

मैच मे गोल करने पहला मौका ब्राजील को 12वे मिनट मे मिला. जब नेमार ने बॉक्स के बाहर से पालिनिहो को पास दिया लेकिन वह बाल तक नही पहुच पाये और स्विट्जरलैंड के गोलकीपर यान सोमेर ने ब्राजील को बढत नही लेने दी। इसके 8 मिनट बाद एफसी बार्सिलोना से खेलने वाले मिडफील्डर कोटिन्हो ने शानदार गोल दागकर ब्राजील को 1-0 से आगे किया,कोटिन्हो के शानदार गोल से ब्राजील के खिलाड़यों का आत्मविश्वास बढा।

मैच के 31वे मिनट मे नेमार को गलत तरिके से गिराने के कारण स्विट्जरलैंड के कप्तान स्टीफन लिकस्टाइनर को पीला कार्ड दिया गया।पूरे मैच मे विपक्षी के खिलाड़ियो ने नेमार को घेरे रखा

दूसरे हाफ की सुरुआत के 50वे मिनट में स्विटरलैंड को कार्नर मिला और जेरदान शाकिरी की किक पर शानदार हैडर लगाते हुए जुबेर ने अपनी टीम को बराबरी पर ला दिया जुबेर के गोल के बाद स्विटरलैंड ने ब्राज़ील पर दबाब बनाया और कोच टिटे ने 60वे मिनट में मिडफील्डर कासिमेरो की जगह मैनचेस्टर सिटी से खेलने वाले फर्नाडिन्हो को मैदान में लाया, मैच के 69वे मिनट में कॉउंटिन्हो को अपना दूसरा गोल करने का मौका मिला लेकिन वह गेंद को पोस्ट में नही ड़ाल पाये। नेमार ने 88वे मिनट में हेडर से गोल करके ब्राज़ील को बढत दिलाने की कोसिस की लेकिन वह बॉल को सीधे कीपर सोमेर के हाथों में मार बैठे।

ब्राज़ील ग्रुप ई के अपने अगले मुक़ाबले में सुक्रवार को कोस्टारिका से भिड़ेगी और स्विटरलैंड को सर्बिया से सामना करना होगा।

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of